मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें | How to Start Mobile Repairing Business

Mobile Repairing Business Plan in Hindi : अगर आप मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करना चाहते हो परंतु आपको इस बारे में जानकारी नहीं है कि मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें तो फिर आज का यह आर्टिकल आपके बहुत काम आने वाला है। ऐसा इसलिए क्योंकि आज के इस लेख के द्वारा हम आप सभी को Mobile Repairing Business Plan in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं। आज का यह लेख आपको निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर जानने में मदद करने वाला है।

  • मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?
  • मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस क्या है?
  • मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?
  • मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने में कितनी लागत आयेगी?
  • मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस में कितना पैसा कमा सकते हैं?

इसके साथ मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने से जुड़े हुए कुछ अन्य पहलुओं के बारे में भी इस लेख में चर्चा की जाएगी जिससे की आपको मोबाइल रिपेयरिंग शॉप खोलने से संबधित सम्पूर्ण चीजें अच्छे से समझ में आ सके। आइए फिर विस्तार से जानते है की How to Start Mobile Repairing Business?

Table of Contents hide

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस क्या है | What is Mobile Repairing Business?

भारत एक विशाल आबादी वाला देश है जहां पर मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं की संख्या 1.2 बिलियन को पार कर चुकी है तथा यह संख्या और भी ज्यादा बढ़ती जा रही है। साथ ही मोबाइल फोन या स्मार्टफोन लगभग हर एक इंसान के पास आज के समय में मौजूद होता है। लोग आज के दौर में घंटों भर मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते है जिससे उनमें खराबी आने लगती है।

बिजनेस का नाम मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस 
लागत30000 से 50000 के बीच
लाभ15000 या इससे अधिक
योगता मोबाइल रिपेयरिंग की जानकारी 
बिजनेस का स्थानबाजार का केंद्र सही स्थान है
मार्केटिंग का तरीकाऑनलाइन और ऑफलाइन तरीके 
मोबाइल रिपेयरिंग का प्रशिक्षण कहा से लेमोबाइल रिपेयरिंग कॉलेज या किसी मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर में काम करें 
मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के संबंध में नीचे सम्पूर्ण जानकारी दी गई है

ऐसे में मोबाइल फोन उपयोगकर्ता अपने मोबाइल को रिपेयर करवाने के लिए मोबाइल रिपेयरिंग शॉप पर जाता है। अतः जो भी व्यक्ति मोबाइल फोन रिपेयरिंग से संबधित कोई शॉप या दुकान खोलता है तो उसे ही मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस के नाम से जाना जाता है। वर्तमान समय में मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं के साथ मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस की मांग बढ़ चुकी है।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस की मांग क्यों बढ़ रही है?

जैसा कि हमने आपको बताया है कि भारत में मोबाइल फोन उपयोग करने वाले लोगों की संख्या 1.2 बिलियन को पार कर चुकी है। ऐसे में जितने ज्यादा लोग मोबाइल फोन का उपयोग करेंगे उतना ही ज्यादा मोबाइल फोन खराब होने की संभावना भी बढ़ेगी। ऐसी स्थिति में उपयोगकर्ता को अपना मोबाइल ठीक करवाने के लिए मोबाइल रिपेयरिंग शॉप पर ही जाना पड़ेगा तभी जाकर वह अपने मोबाइल को ठीक करवा सकता है।

ऐसे में देखा जाए तो मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस की मांग काफी ज्यादा बढ़ चुकी है और जैसे-जैसे मोबाइल फोन उपयोग करने वालों की संख्या में इजाफा होगा इस बिजनेस की मांग और ज्यादा बढ़ जाएगी। वैसे तो काफी सारे लोग नया मोबाइल लेते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो मोबाइल रिपेयरिंग शॉप में जाकर पुराने फोन खरीदते हैं। अतः आप अपनी दुकान में मोबाइल रिपेयर करने के साथ पुराने फोन बेचने का बिजनेस भी कर सकते हो।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए निम्नलिखित योग्यताएं आपके पास अवश्य होनी चाहिए ताकि आप आसानी से मोबाइल रिपेयर बिजनेस शुरू कर सको। योग्यताओं के अंतर्गत हमने आपको बताया है कि मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स क्या है और मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स आप कहां से कर सकते हो?

  • मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स की जानकारी
  • मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स करने के लिए कॉलेज
  • मोबाइल रिपेयरिंग से जुड़ी बेसिक जानकारी

मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स क्या है?

एक ऐसा कोर्स जिसके अंतर्गत मोबाइल फोन या स्मार्टफोन से संबंधित जानकारी दी जाती है। मोबाइल के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों के विषय में बताया जाता है। मोबाइल फोन कैसे कार्य करता है? मोबाइल रिपेयरिंग कैसे किया जाता है? आदि विषय की जानकारी मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स के अंतर्गत दी जाती ही।

वैसे मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स करने के लिए आपके पास किसी भी तरह का डिग्री या डिप्लोमा होना आवश्यक नही है। परंतु आपको मोबाइल रिपेयरिंग का काम आएगा तभी आप यह बिजनेस कर सकते हो। इस संदर्भ में आप चाहे तो किसी अन्य मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर में जाके काम सीख सकते हो या फिर आप मोबाइल रिपेयरिंग का 6 महीने तक का कोर्स कर सकते हो।

मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स कहां से करें?

हमने यहां नीचे भारत के कुछ टॉप मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स करवाने वाले कॉलेजों की सूची दी हैं जहां से आप भी मोबाइल रिपेयरिंग का कोर्स कर सकते हो।

  • इंटरसॉफ्ट टेक्नीकल इंस्टीट्यूट 
  • फास्ट टेक इंस्टीट्यूट 
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफोरमेशन टेक्नोलॉजी 
  • ब्रिटको और ब्रिडको 
  • सिद्धू टेक्नीकल इंस्टीट्यूट 
  • जॉर्ज टेलीग्राफ इंस्टीट्यूट 
  • ग्लोबल इंस्टीट्यूट ऑफ सेलुलर टेक्नोलॉजी 
  • एबीसी मोबाइल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली

मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स से जुड़ी बेसिक जानकारी कौन कौन सी है?

यदि आप मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करना चाहते हो तो आपको मोबाइल रिपेयरिंग से जुड़ी हुई निम्नलिखित बेसिक जानकारियों का पता होना चाहिए।

  • पावर ऑफ फ़ौल्ट्स
  • लिक्विड डैमेज ट्रीटमेंट
  • नेटवर्क प्रॉबलम
  • सॉफ्टवेयर फ़ौल्ट्स
  • स्पीकर/माइक्रोफोन फ़ौल्ट्स
  • चारजिंग प्रॉबलम
  • एलसीडी रिपलेसमेंट/एडजस्टमेंट
  • ड्रोप्ड/फिजिकली डैमेज फोन
  • हाउसिंग/चासीस रिपलेसमेंट
  • एसपी अन्लोकिंग/सिम रिस्ट्रीक्सन रमूवल
  • फ्लिप और स्लाइड प्रॉबलम
  • सॉफ्टवेयर अप ग्रेडेशन

मोबाइल रिपेयरिंग के अंतर्गत कौन कौन से काम होते है?

एक मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस के अंतर्गत काफी सारे काम होते है जिनके बारे में हमने नीचे बताया है।

  • मोबाइल फोन ठीक करना
  • स्क्रीन गार्ड लगाना
  • डिस्प्ले ठीक करना
  • चार्जर पिन ठीक करना
  • सॉफ्टवेयर अपग्रेड करना
  • स्पीकर ठीक करना
  • बैटरी चेंज करवाना

इन सबके अलावा भी कई सारे काम है जो मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस में किए जाते है।

मोबाइल रिपेयरिंग बिज़नेस कैसे शुरू करें | Mobile Repairing Business Plan in Hindi

Mobile Repairing Business

हमने अभी तक आपको मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस से सबंधित बहुत सी जानकारियां प्रदान कर दी हैं। अब हम आपको मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे करें यह Step By Step बताने जा रहे है।

1. Mobile Repairing Course का कोर्स कीजिए/प्रशिक्षण ले

वैसे तो मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए किसी भी प्रकार की डिग्री या डिप्लोमा की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन यह भी सच है कि मोबाइल रिपेयरिंग की जानकारी आपको होगी तभी जाकर आप यह बिजनेस शुरू कर पाओगे। इसलिए यह जरूरी है कि आप किसी अन्य मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर में जाकर प्रशिक्षण ले लीजिए या फिर आप मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स भी कर सकते हो जो इस बात को प्रकट करेगा कि आपको मोबाइल रिपेयरिंग के बारे में जानकारी हैं। इससे आपकी दुकान पर आने वाले ग्राहकों को भी आपके ऊपर विश्वास होगा।

2. सही Place का चुनाव करें 

अगर आप अपने मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस को गंभीरता से शुरू करना चाहते हो तो इसके लिए आपको किसी अच्छे सी जगह का चुनाव करना होगा जहां पर आप अपने बिजनेस को शुरू करने के लिए एक दुकान किराए पर ले सको। यह तो आपको पता ही होगा कि वर्तमान समय में मोबाइल फोन उपयोग करने वालों की संख्या काफी ज्यादा बढ़ चुकी हैं। ऐसे में यदि उपयोगकर्ताओं के मोबाइल खराब होते हैं तो वह किसी नजदीकी रिपेयरिंग सेंटर को ही देखते हैं। 

इसलिए जरूरी है कि आप किसी ऐसे स्थान का चुनाव करें जो लोगों की पहुंच से नजदीक हो। मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए यदि आपको मुख्य बाजार में दुकान किराए पर मिल जाता हैं तो यह काफी अच्छी बात होगी। यदि दुकान मेन मार्केट में ही होगा तो लोगों की नजरें आपकी दुकान पर आसानी से पड़ जाएगी और ग्राहक भी आसानी से आपकी दुकान में आएंगे। इसलिए आपको कोशिश करना है कि अपने बिजनेस को शुरू करने के लिए आप भीड़भाड़ वाले इलाके में ही अपनी दुकान खोलें।

3. कुशल Technician अवश्य रखें 

वैसे अगर आपको मोबाइल रिपेयरिंग का काम आता होगा तो फिर आपको अपनी दुकान में कोई कारीगर रखने की आवश्यकता नहीं होगी जिसे मोबाइल ठीक करना आता हो। लेकिन अगर सिर्फ आप दुकान के मालिक हैं तो फिर आपको एक कुशल टेक्नीशियन अपनी दुकान में अवश्य रखना होगा जिसको मोबाइल ठीक करने की जानकारी संपूर्ण रूप से हो ताकि वह आपकी दुकान पर आने वाले ग्राहकों का मोबाइल आसानी से ठीक कर सके। इस बीच आप खुद भी मोबाइल रिपेयरिंग का काम सीख सकते हो।

4. सभी Spare Parts होने चाहिए

मोबाइल रिपेयर करने के लिए काफी सारे उपकरणों की आवश्यकता होती है जिनकी मदद से खराब मोबाइल को आसानी से ठीक किया जा सकता है। वैसे भी मोबाइल कई सारे छोटे-छोटे पुर्जों से बना होता है जिसके लिए आपके दुकान में सभी स्पेयर पार्ट्स होने चाहिए ताकि मोबाइल खराब होने की स्थिति में आप उन स्पेयर पार्ट्स को मोबाइल ठीक करने के लिए इस्तेमाल कर सको। इसलिए यह बिल्कुल सुनिश्चित कर लें कि आप की दुकान में सभी स्पेयर पार्ट्स उपलब्ध है या नहीं।

5. Quick Service की सुविधा होनी चाहिए 

आपके बिजनेस में क्विक सर्विस की सुविधा अवश्य होनी चाहिए अर्थात जितना जल्दी हो सके आप ग्राहकों के मोबाइल ठीक करके दोगे तो ग्राहक अगली बार भी आपकी ही दुकान पर ही आएगा। देखा जाए तो आज के समय में लोग काफी जल्दी में होते हैं और उनका ज्यादातर काम भी मोबाइल से ही होता है। जिसकी वजह से अधिक देर तक वह मोबाइल से दूर नहीं रहना चाहते हैं। इसलिए यदि आप ग्राहकों को जितना जल्दी उनका मोबाइल ठीक करके दोगे तो ग्राहक भी संतुष्ट होगा और आपके बिजनेस की ख्याति भी बढ़ेगी।



6. Business की Marketing जरूर करें 

आपकी दुकान दिखने में चाहे जितनी मर्जी अच्छी हो या फिर आपके बिजनेस में सर्विस चाहे जितनी बेहतर हो यह दोनों ही चीजें तब तक मायने नहीं रखती है जब तक आपके बिज़नस कि पहुंच ग्राहकों तक हो ही ना। कहने का अर्थ है कि जब आप अपने बिजनेस को नया नया शुरू करोगे तो आपको चाहिए कि आप अपने बिजनेस की मार्केटिंग अवश्य करें। यदि आप की दुकान किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में है या फिर मुख्य बाजार में हैं तो फिर आपको अपने व्यवसाय की मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं है।

लेकिन वही आपकी दुकान ऐसे स्थान पर हैं जहां पर लोगों का आना जाना थोड़ा कम रहता है या फिर यह मुख्य बाजार से थोड़ा दूर पड़ता है तब आपको अपने मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस की मार्केटिंग करने की आवश्यकता जरूर होगी। आप अपने बिजनेस की मार्केटिंग ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों ही तरीके से कर सकते हो। फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप ऐसे ऑनलाइन जरिए हैं जिनकी मदद से आप अपने बिजनेस के बारे में लोगों को जानकारी प्रदान कर सकते हो।

इसके अलावा ऑफलाइन तरीके में आप अखबारों में अपने दुकान का विज्ञापन दे सकते हो या फिर आप मुख्य बाजार के आसपास अपने व्यवसाय की जानकारी समेत पोस्टर या विज्ञापन बोर्ड लगवा सकते हो। जब भी ग्राहकों की नजर इन पर पड़ेगी तो आवश्यकता पड़ने पर वह आपके मोबाइल रिपेयरिंग दुकान में अवश्य आएंगे।

7. ग्राहकों से Feedback जरूर लीजिए

आपकी दुकान पर आने वाले ग्राहकों से फीडबैक लेकर आप अपने व्यवसाय में दिख रहे कमी को दूर कर सकते हो। जब भी ग्राहक आपकी दुकान पर आते हैं तो आप उनसे अपने व्यवसाय के बारे में फीडबैक जरूर लें ताकि आपको जानने में मदद मिलेगा कि आपके व्यवसाय में कौन-कौन सी कमी है जिनको आप दूर कर सकते हो। इससे आपको यह भी जानने में मदद होगी की ग्राहक आपकी सेवाओं से संतुष्ट होता है या नहीं? फीडबैक से आपको अपने व्यवसाय में सुधार का अवसर मिलेगा।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस (Mobile Repairing Business) शुरू करने के लिए आपको ऊपर बताए कि सारी प्रक्रिया को फॉलो करना होगा। ऊपर बताई गई प्रक्रियाओं को सही ढंग से अगर आप अपनाते हो तो फिर आप आसानी से मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू कर सकते हो।

मोबाइल फोन रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए लाइसेंस बनवाए और पंजीकरण करवाए

सामान्यतः मोबाइल फोन रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए आपको किसी भी तरह का लाइसेंस बनवाने की या फिर पंजीकरण करवाने की जरूरत तो नही पड़ेगी लेकिन टर्नओवर जीएसटी में छूट समय सीमा से ज्यादा मिलता है तो यह आवश्यक हो जाता है की बिजनेस का रजिस्ट्रेशन करवाया जाए और जीएसटी नंबर भी लिया जाए। इसके साथ आपको यह बात भी पता होना चाहिए की भिन्न भिन्न राज्यों और जिलों के नियम कानून भी अलग होते है। इसलिए आपको जोखिम नहीं लेना चाहिए।

अतः आपको चाहिए की आप कानूनी प्रक्रियाओं को अवश्य संपन्न करें। मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के संबंध में जो भी  कानूनी कार्यवाही आवश्यक है उनके बारे में आपको नीचे विस्तार से समझाया गया है जिनको आपको भी फॉलो करना होगा।

A. दुकान का Registration करवाए

Shop and Establishment Act के अंतर्गत रहकर स्टेट गवर्नमेंट के लेबर डिपार्टमेंट में आपको अपनी दुकान का सबसे पहले रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा। इस प्रक्रिया को संपन्न करने के लिए निम्नलिखित चीजों की जरूरत आपको पड़ेगी।

  • बिजनेस का नाम
  • बिजनेस का पता 
  • बिजनेस का प्रकार
  • बिजनेस में कर्मचारी रखें है तो उनके विषय में जानकारी 
  • आपका पहचान पत्र, इसके लिए आप पैन कार्ड/आधार कार्ड/वोटर आईडी कार्ड या फिर ड्राइविंग लाइसेंस भी दे सकते हो
  • मालिक का फोटो 
  • किराए पर ली गई दुकान का एग्रीमेंट
  • बिजली का बिल भी

B. व्यवसाय का Tax Registration करवाए

दुकान का रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाने के बाद टैक्स रजिस्ट्रेशन यानी की GST रजिस्ट्रेशन के लिए https://services.gst.gov.in आधिकारिक वेबसाइट आपको विजिट करने की जरूरत पड़ेगी। यदि यह कार्य आप खुद न कर पाओ तो आप किसी साइबर कैफे में जाके यह कार्य आसानी से करवा सकते हो। आपको निम्नलिखित दस्तवावेजों की आवश्यकता पड़ेगी इस कार्य को करवाने के लिए।

  • आपका पैन कार्ड
  • आपके बिजनेस रजिस्ट्रेशन का सबूत
  • जहां पर आपने अपना बिजनेस शुरू किया है वहां का एड्रेस प्रूफ
  • आपके बैंक अकाउंट की स्टेटमेंट
  • आपके डिजिटल सिग्नेचर   

जैसे आप अपलिखित प्रक्रियाओं को पूरा कर लोगे तो फिर आप आसानी से मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस बिना किसी परेशानी के शुरू कर सकते हो।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने में कितनी लागत आयेगी?

अगर आपके मन में यह सवाल आ रहा है की मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए लागत कितनी आयेगी तो हम आपको बताना चाहेंगे की यदि आप सिर्फ सामान्य रूप से मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस ही करना चाहते हो तो आपको सिर्फ 30000 से 50000 तक का निवेश करना होगा जिसमे दुकान का किराया, दुकान की फिटिंग और आवश्यक मोबाइल रिपेयरिंग टूल्स शामिल होंगे। परंतु अगर आप बड़े स्तर से मोबाइल रिपेयरिंग का बिजनेस करना चाहते तो लागत 2 लाख रुपए तक जा सकता है।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस में कितना कमा सकते हैं?

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जो की सारा साल चलता है और भविष्य में भी इसकी मांग बनी ही रहेगी। ऐसे में बात की जाए इस बिजनेस से होने वाली कमाई के तो हर महीने आप इस बिजनेस को शुरू करने के बाद 25 हजार से 30 हजार आसानी से कमा पाओगे बशर्ते आपकी दुकान मुख्य बाजार में हो तथा दुकान की सर्विस भी अच्छी हो।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस से पैसे कमाने के तरीके कौन कौन से है?

जैसा की आपको भी पता है की मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस के द्वारा ही आप पैसे कमाओ लेकिन इन सबके अलावा कुछ अन्य सुविधाएं/तरीके है जिनकी मदद से भी आप इस बिजनेस के द्वारा पैसे कमा सकते हो।

1. मोबाइल एक्सेसरीज बेचकर पैसे कमाए

अपनी दुकान में मोबाइल रिपेयर करने के साथ आप मोबाइल एक्सेसरीज बेचकर भी काफी अच्छा पैसा कमा सकते हो। मोबाइल एक्सेसरीज में मुख्य रूप से चार्जर, हेडफोन, मोबाइल स्टैंड, मोबाइल कवर आदि चीजें शामिल होती है।

2. मोबाइल रिचार्ज और सिम कार्ड की सुविधा

इसके साथ आप मोबाइल रिचार्ज करके भी पैसे कमा सकते हो तथा कुछ पैसे सिम कार्ड बेचकर भी कमाया जा सकता है।

3. मोबाइल फोन बेचकर पैसे कमाए

आप चाहे हो मोबाइल रिपेयर करने के साथ अपनी दुकान के द्वारा नए नए मोबाइल बेचकर भी अच्छा खासा पैसा कमा सकते हो।

4. पुराना फोन बेचकर पैसे कमाए

काफी सारे लोग जो की नया मोबाइल फोन लेने में असमर्थ होते है, अक्सर पुराना फोन खरीदते है। ऐसे में आप सेकेंड हैंड मोबाइल फोन बेचकर भी पैसे कमा सकते हो।

मोबाइल रिपेयरिंग शॉप की मार्केटिंग कैसे करें?

किसी भी व्यवसाय को आज के समय में आगे बढ़ाने के लिए उसकी मार्केटिंग करना बेहद जरूरी है। इस बात से फर्क नही पड़ता है की बिजनेस छोटा है या बड़ा है बल्कि इस बात से फर्क पड़ता है की आप अपने बिजनेस को लेकर गंभीर कितने ज्यादा हो। अतः आप चाहते हो की मोबाइल रिपेयरिंग का आपका बिजनेस भी जल्दी से ग्रोथ दिखाए तो इसके लिए आप नीचे बताए गए तरीके से मोबाइल रिपेयरिंग शॉप की मार्केटिंग कर सकते हो।

1. Offline तरीका

अपने बिजनेस की मार्केटिंग के लिए आप ऑफलाइन तरीके का इस्तेमाल कर सकते हो। इसके अंतर्गत निम्नलिखित चीजें आप कर सकते हो।

  • भीड़ भाड़ वाले इलाके में, मुख्य बाजार के ऐसा पास, सड़क किनारे और अन्य चहल पहल वाली जगह पर आप अपने बिजनेस का पोस्टर और बिल बोर्ड लगा सकते हो जिससे की लोगों को आपके बिजनेस के बारे में पता चले तथा वह आपकी दुकान में जरूर आए।
  • दूसरा तरीका है की आपकी दुकान में जब भी ग्राहक आए तो आप उनके साथ विनम्र बर्ताव करें। इसका फायदा यह है की जब ग्राहक को आपकी दुकान की सुविधा के साथ आपका बर्ताव भी पसंद आएगा तो वह इन बातों को अन्य लोगों के साथ भी शेयर करेगा जिससे आपकी दुकान में अन्य लोग भी आना चाहेंगे।
  • इसके बाद तीसरा तरीका है की आप डिस्काउंट भी दे सकते हो और इसके बारे में आप पोस्टर भी लगा सकते हो जिससे लोग आपकी दुकान में डिस्काउंट प्राप्त करने आयेंगे और अगर उनको आपकी सुविधा पसंद आती है तो वह फिर से जरूर आयेंगे।

2. Online तरीका

मोबाइल रिपेयरिंग शॉप की मार्केटिंग करने के लिए आप ऑनलाइन तरीके का उपयोग कर सकते हो जिसके बारे में नीचे बताया गया है।

  • गूगल माय बिजनेस (Google My Business) पर आपने बिजनेस को रजिस्टर करें जिसका फायदा यह होगा की जब भी आपकी दुकान के आस पास में रहने वाले लोग मोबाइल रिपेयरिंग शॉप के बारे में गूगल पर ढूंढेंगे तो उनको आपकी दुकान के बारे में भी जानकारी मिलेगी।
  • फेसबुक इंस्टाग्राम व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी आप अपनी दुकान का प्रचार कर सकते हो। इंस्टाग्राम और फेसबुक पर आप अपने दुकान के नाम पर पेज बना सकते हो तथा अपने व्यवसाय से जुड़ी जानकारियां शेयर कर सकते हो।

मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें – FAQs

Q.1 मोबाइल से कौन सा बिजनेस करें?

Ans :– मोबाइल से आप मोबाइल रिपेयरिंग का बिजनेस, मोबाइल रिचार्ज का बिजनेस, सेकेंड हैंड मोबाइल बेचने का मोबाइल या नया मोबाइल बेचने का बिजनेस शुरू कर सकते हो।

Q.2 मोबाइल रिपेयरिंग कोर्स कितने दिनों का होता है?

Ans :– अमूमन मोबाइल रिपेयरिंग का कोर्स 4 महीने से लेकर 6 महीने के बीच में होता है।

Q.3 क्या हमें मोबाइल रिपेयरिंग के बिजनेस में टेकनीशियन रखना जरूरी है?

Ans :– यदि आपको मोबाइल रिपेयरिंग का काम अच्छे से आता है और आपके व्यवसाय का स्तर भी छोटा है तो आपको कोई भी टेक्नीशियन रखने की आवश्यकता नहीं है। परंतु यदि आपके व्यवसाय का स्तर काफी बड़ा है तो फिर आपको टेक्नीशियन अवश्य रखने चाहिए।

Q.3 मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

Ans :– मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस शुरू करने के लिए आपको संपूर्ण जानकारी आज के इस लेख में दी गई है।

Mobile Repairing Business Plan in Hindi – सारांश

अगर आपने आज का यह लेख पूरा पढ़ा होगा तो अब आपको How to Start Mobile Repairing Business के बारे में पूरी जानकारी हासिल हो चुकी होगी। इस सम्पूर्ण लेख में आज हमने बताया है की मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस क्या है और मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? इसके अतिरिक्त अन्य सवालों के जवाब भी हमारे द्वारा इस लेख में दिए गए है। अतः आशा करते है की आपको हमारे द्वारा दी गई सम्पूर्ण जानकारी अच्छे से समझ में आ चुकी होंगी। यदि फिर भी आपके मन में कोई सवाल हो तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते हो।

Sharing Is Caring:

MoneyMaker पर Share Market से संबंधित जानकारियां प्रदान की जाती हैं। साथ ही रोजाना शेयर बाजार में आने वाले उतार चढ़ाव के बारे में भी Update दी जाती है। अतः रोजाना Update पाने के MoneyMaker के Telegram का हिस्सा बनें।

3 thoughts on “मोबाइल रिपेयरिंग बिजनेस कैसे शुरू करें | How to Start Mobile Repairing Business”

Leave a Comment